ब्रेकिंग न्यूज़

  अच्छी सेहत चाहिए, वास्तु के इन आसान उपायों को एक बार जरूर आजमाएं...
हर कोई अपने परिवार को स्वस्थ रखना चाहता है। ऐसे में हेल्दी चीजों का सेवन करने और अपनी डेली रूटीन को हेल्दी बनाने के साथ ही अगर वास्तु से जुड़े कुछ उपाय अपना लें तो उससे भी आपकी सेहत को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। 
खिड़की दरवाजे खोल दें
सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और सूर्योदय के समय घर की सभी खिड़कियां और दरवाजे कुछ देर के लिए खोल दें। उगते सूर्य की किरणें सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं और घर में मौजूद बैक्टीरिया और वायरस भी इससे नष्ट हो जाते हैं, लेकिन दोपहर में 11-12 बजे सूर्य की किरणें नुकसानदेह हो जाती हैं इसलिए दोपहर के समय दक्षिण दिशा की खिड़कियां और दरवाजे बंद कर दें और दक्षिण दिशा में गहरे रंग का भारी पर्दा लगाएं।
मुख्य द्वार पर इस बात का रखें ध्यान
वास्तु शास्त्र की मानें तो घर का मुख्य द्वार यानी मेन गेट कभी भी टूटा-फूटा या दरार वाला नहीं होना चाहिए वरना इसका घर के मुखिया की सेहत पर काफी बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए घर के मुख्य द्वार को हमेशा साफ-सुथरा रखें और अच्छी हालत में रखें।
सोते समय इस बात का रखें ध्यान
रात को सोते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपका सिर कभी भी उत्तर दिशा की ओर और पैर दक्षिण दिशा की तरफ न हो वरना सिर में दर्द और नींद न आने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा रात में सोते समय आपका सिर उस तरफ भी नहीं होना चाहिए जिस तरह टॉयलेट है या वॉशिंग मशीन रखी हो। आप किस दिशा में सिर करके सोते हैं इसका भी आपकी मानसिक सेहत पर गहरा असर पड़ता है।
घर में रखें साफ-सफाई
वास्तु शास्त्र की मानें तो घर को हमेशा साफ सुथरा रखना चाहिए। अगर घर गंदा हो, घर की दीवारों पर जाले लगे होंगे तो इस बात का घर में रहने वाले लोगों पर नकारात्मक असर पड़ेगा और उसकी शारीरिक और मानसिक सेहत खराब हो जाएगी। इसलिए सफाई करते वक्त घर की दीवारें और कोनों में भी सफाई का विशेष ध्यान रखें।
सीलन की समस्या ठीक करवाएं
घर में अगर कहीं सीलन है तो समझ लीजिए कि घर वालों की सेहत खराब होने वाली है। वास्तु शास्त्र में दीवारों पर सीलन होना नकारात्मक स्थिति मानी जाती है। ऐसी जगह पर लंबे समय तक रहने से सांस और त्वचा संबंधी बीमारियां हो सकती हैं इसलिए घर में अगर कहीं सीलन हो तो उसकी तुरंत मरम्मत करवाएं।

Related Post

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).