ब्रेकिंग न्यूज़

 राज्य में धान खरीदी का आंकड़ा 11.13 लाख मीटरिक टन के पार
-धान खरीदी के एवज में 3.34 लाख किसानों को 1772.92 करोड़ रूपए जारी
-सर्वाधिक 1,18,927 मीटरिक टन धान खरीदकर राजनांदगांव जिला पहले स्थान पर
-कस्टम मिलिंग के लिए धान का तेजी से उठाव: 2.49 लाख मीटरिक टन का डीओ जारी
 रायपुर। राज्य में खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के लिए एक दिसम्बर से शुरू हुए धान खरीदी के बीते 8 दिनों में आज शाम साढ़े 6 बजे तक 3 लाख 33 हजार 620 किसानों से 11 लाख 12 हजार 824 मीटरिक टन धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी की गई है। किसानों से 2477 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी की जा रही है। खरीदी के पश्चात् बैंक लिकिंग व्यवस्था के तहत इन किसानों को 1772 करोड़ 92 लाख रूपए की राशि मार्कफेड द्वारा अपैक्स बैंक को भुगतान के लिए जारी किया गया है।
 बीते 8 दिनों में आज शाम साढ़े 6 बजे तक 3 लाख 33 हजार 620 किसानों से 11 लाख 12 हजार 824 मीटरिक टन धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी की गई है। किसानों से 2477 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी की जा रही है। खरीदी के पश्चात् बैंक लिकिंग व्यवस्था के तहत इन किसानों को 1772 करोड़ 92 लाख रूपए की राशि मार्कफेड द्वारा अपैक्स बैंक को भुगतान के लिए जारी किया गया है।
धान खरीदी के आठवें दिन भी राजनांदगांव जिला प्रदेश में पहले पायदान पर है। राजनांदगांव जिले में 1,18,927 मीटरिक टन धान की खरीदी हो चुकी है। बेमेतरा जिला धान खरीदी के मामले में आज राज्य में दूसरे क्रम पर है। बेमेतरा जिला में 87,566 मीटरिक टन धान की खरीदी की गई है। अब तक की धान खरीदी में बलौदाबाजार जिला राज्य में तीसरे स्थान पर है। बलौदाबाजार जिला में 86,783 मीटिरिक टन धान की खरीदी हुई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर धान खरीदी के धान उठाव एवं कस्टम मिलिंग कार्य भी निरंतर हो रहा है। सूरजपुर जिले के प्रभारी सचिव एवं समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री पी. दयानंद ने आज सूरजपुर के मानी, कंदराई और जयनगर के धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण किया। प्रभारी सचिव ने धान खरीदी के लिए जरूरी संसाधनों, बारदानों सहित कम्प्यूटर आपरेटर और नमी मापक यंत्र आदि व्यवस्थाओं के बारे में समिति प्रबंधकों से जानकारी ली। प्रभारी सचिव ने खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर बेचने लाए गए धान की गुणवत्ता, समिति में बारदाना की उपलब्धता, जारी किये जा रहे टोकन, पंजी संधारण तथा धान खरीदी की मात्रा आदि का भी जायजा लिया। उन्होंने खरीदी केन्द्र में वैक्सीनेशन के लिए समिति के अधिकारियों को बधाई दी।
समर्थन मूल्य पर धान बेचने को लेकर किसानों में काफी उत्साह है। उपार्जन केन्द्रों में टोकन के आधार पर किसान धान बेचने के लिए पहुंच रहे है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार खरीदी केन्द्रों में किसानों की सहूलियत और धान खरीदी की व्यवस्था का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी लगातार केन्द्रों का दौरा कर रहे हैं। इस दौरान अधिकारियों द्वारा किसानों से धान खरीदी व्यवस्था के संबंध में चर्चा भी की जा रही है। किसानों ने धान खरीदी व्यवस्था को संतोषप्रद बताया और पुराने बारदाने की दर 25 रूपए किए जाने से प्रसन्नता व्यक्त करते हुए राज्य सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया।
खाद्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार चालू विपणन वर्ष में राज्य के बस्तर जिले में 11,994 मीटरिक टन, बीजापुर जिले में 2167 मीटरिक टन, दंतेवाड़ा जिले में 377 मीटरिक टन, कांकेर जिले में 32 हजार 775 मीटरिक टन, कोण्डागांव जिले में 19 हजार 514 मीटरिक टन, नारायणपुर जिले में 1949 मीटरिक टन, सुकमा जिले में 1623 मीटरिक टन, बिलासपुर जिले में 55,844 मीटरिक टन, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही 6781 मीटरिक टन, जांजगीर-चांपा जिले में 54,206 मीटरिक टन, कोरबा जिले में 9122 मीटरिक टन, मुंगेली जिले में 43,012 मीटरिक टन, रायगढ़ जिले में 52,367 मीटरिक टन, बालोद जिले में 80,304 मीटरिक टन, बेमेतरा जिले में 87,566 मीटरिक टन, दुर्ग जिले में 57,480 मीटरिक टन, कवर्धा में 60,816 मीट्रिक टन, राजनांदगांव जिले में 1,18,927 मीटरिक टन, बलौदाबाजार जिले में 86,783 मीटरिक टन, धमतरी जिले में 56,925 मीटरिक टन, गरियाबंद जिले में 42,874 मीटरिक टन, महासमुंद जिले में 79,018 मीटरिक टन, रायपुर जिले में 69,282 मीटरिक टन, बलरामपुर जिले में 15,311 मीटरिक टन, जशपुर जिले में 9153 मीटरिक टन, कोरिया जिले में 10,666 मीटरिक टन, सरगुजा जिले में 18,268 मीटरिक टन और सूरजपुर जिले में 27,720 मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है।

Related Post

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).