ब्रेकिंग न्यूज़

 मौसम अलर्ट: 26-27 सितंबर को बस्तर संभाग और उससे लगे जिलों में हो सकती है भारी बारिश
रायपुर। प्रदेश में एक बार फिर भारी बारिश के आसार हैं। बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान की वजह से विशेषकर बस्तर संभाग पर भारी बारिश हो सकती है। संभावना जताई जा रही है, 27 सितंबर को बस्तर, दंतेवाड़ा और बीजापुर जिलों में 40 से 50 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलेंगी।
 रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, इस समय उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक लोअर प्रेशर बना हुआ है। शनिवार सुबह 5.30 बजे की रिपोर्ट के मुताबिक यह गहरे प्रेशर में बदल गया। अभी यह गोपालपुर से पूर्व- दक्षिण-पूर्व दिशा में 510 किलोमीटर और कलिंगपटनम से 590 किलोमीटर दूर पूर्व-उत्तर-पूर्व में स्थित है। अगले 12 घंटे में इसके और प्रबल होकर एक चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना बन रही है।
 यह चक्रवाती तूफान पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तट के ऊपर, विशाखापट्टनम और गोपालपुर के बीच कलिंगपटनम के पास 26 सितंबर को पहुंचने की संभावना है। छत्तीसगढ़ का दक्षिणी हिस्सा इसके प्रभाव में आएगा। बस्तर संभाग में कुछ स्थानों पर भारी से अति भारी बरसात हो सकती है। एक-दो स्थानों पर चरम भारी वर्षा की भी संभावना है।
रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार एक गहरा अवदाब उत्तर और मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित था जो पश्चिम दिशा में पिछले 6 घंटे में 14 किलोमीटर प्रति घंटे के गति से  आगे बढ़ा और अभी उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर 18.4 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 89.3 डिग्री पूर्वी देशांतर, गोपालपुर से 470 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण-पूर्व की ओर कलिंग पटनम से 540 किलोमीटर पूर्व-उत्तर-पूर्व की ओर स्थित है। इसके और प्रबल होकर समुद्री चक्रवात के रूप में अगले 6 घंटे में बनने की संभावना है। इसके पश्चिम दिशा की ओर आगे बढ़ते हुए तटीय उत्तरी आंध्र प्रदेश, तटीय दक्षिणी ओडि़शा के बीच विशाखापट्टनम और गोपालपुर के मध्य लगभग कलिंग पटनम के पास शाम या रात में 26 सितंबर को पहुंचने की संभावना है। मानसून द्रोणिका जैसलमेर, कोटा, मंडला, संबलपुर, पारादीप और उसके बाद पूर्व-उत्तर-पूर्व की ओर उत्तर- पश्चिम और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में स्थित गहरा अवदाब के  केंद्र तक स्थित है।
इसके असर से 26 सितंबर को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी वर्षा भी होने की संभावना है।  प्रदेश में अधिकतम तापमान में गिरावट होने की संभावना बनी हुई है। प्रदेश में भारी बारिश का क्षेत्र मुख्यत: बस्तर संभाग और उससे लगे जिले संभावित हैं।इस बीच राजनांदगांव में आज दोपहर को अचानक मौसम बदला और   घने बादलों के साथ तेज बारिश हो रही है। 
 
 

Related Post

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).