ब्रेकिंग न्यूज़

  कोरोना वायरस की दूसरी लहर में सामने आ रहे हैं पहले से कुछ अलग लक्षण, जानें कोविड के नए लक्षणों के बारे में
 कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप पूरी दुनिया में काफी तेजी से फैल रहा है। भारत और अमेरिका सहित दुनियाभर के कई देशों में स्थिति काफी भयावह बनी हुई है। भारत की स्थिति दिन-ब-दिन और अधिक खराब होती नजर आ रही है। यहां कोरोना वायरस से सारे रिकॉर्ड टूट चुके हैं।   वैक्सीनेशन लगने के बावजूद लोग कोविड-19 के शिकार हो रहे हैं, जो लोगों के सामने चिंता का विषय बनी हुई है। कोरोना के इस नए स्ट्रेन में कुछ लक्षण भी नए दिख रहे हैं। अब मरीजों में कोरोना के पुराने लक्षण, सर्दी, जुकाम, सांस लेने में परेशानी, तेज बुखार के साथ-साथ गैस्ट्रो से जुड़ी शिकायतें भी काफी ज्यादा देखी जा रही हैं।
 इस मामले में डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस के दूसरे स्ट्रेन में गैस्ट्रो (पेट से जुड़ी समस्याओं) के लक्षण ज्यादा सामने आ रहे हैं, जैसे- पेट दर्द, उल्टी, कमजोरी, चक्कर आना आदि। जरूरी नहीं है कि  इन लक्षणों के साथ मरीज को बुखार ही हो। यानी नए कोरोना के नए स्ट्रेन की चपेट में आने के बाद बिना बुखार के भी अगर   तबीयत खराब होती है और  ऊपर बताए गए लक्षणों को महसूस करते हैं, तो सावधान हो जाना चाहिए। इस तरह के लक्षणों के दिखने पर अपना कोविड-19 टेस्ट जरूर करा लें।  डॉक्टरों के अनुसार नया स्ट्रेन पहले से ज्यादा संक्रामक है, इसीलिए कोरोना की दूसरी लहर में ज्यादा केस सामने आ रहे हैं।
 कोविड-19 के पुराने लक्षण  
कॉमन लक्षण
बुखार
सूखी खांसी
थकान महसूस होना।
 हल्के-फुल्के दिखने वाले लक्षण
-शरीर में दर्द होना।
-गले में दर्द होना।
-डायरिया
-सिरदर्द
-गंध और स्वाद कम होना।
-स्किन पर रैशेज होना।
गंभीर लक्षण
-सांस लेने में परेशानी और शॉर्ट ब्रीथिंग की समस्या
-सीने में दर्द होना और दबाव महसूस होना।
-बोलने में परेशानी होना
 नए स्ट्रेन में कोविड-19 के नए लक्षण 
डॉक्टर का कहना है कि दूसरे स्ट्रेन के नए लक्षणों में कोरोना के पुराने हल्के फुल्के लक्षण अब सामान्य हो चुके हैं। जैसे- पेट में दर्द, उल्टी होना, कमजोरी महसूस होना, चक्कर आना। 
 फ्लू के लक्षण-नाक बहना, गले में खराश, छींक आना, खांसी, सिरदर्द, थकान, तेज बुखार, आंख लाल होना, आंखों से पानी आना अन्य कई सामान्य लक्षण आपको फ्लू में नजर आ सकते हैं।
  कोरोना के यह नए लक्षण पहले के कोरोना के मरीजों में भी देखे गए हैं। लेकिन उस समय मरीजों में यह लक्षण सेकेंड्री तौर पर देखे जा रहे थे। यानि मरीजों को तेज बुखार, सांस लेने में परेशानी, गंध न आने की शिकायत सबसे अधिक थी। वहीं, पेट से जुड़ी परेशानियों की शिकायत कुछ-कुछ मामलों में देखे जा रहे थे, लेकिन अब यह लक्षण मरीजों में काफी सामान्य तौर पर दिख रहे हैं। अगर किसी को 2 से 3 दिन तक लगातार यह लक्षण दिख रहे हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। पेट से जुड़ी समस्या को सामान्य समझने की लगती न करें। ऐसा करने से परेशानी बढ़ सकती है।

Related Post

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).