ब्रेकिंग न्यूज़

 कान के मैल (वैक्स) की ज्यादा बार-बार न करें सफाई, हो सकते हैं कई फायदे
कान में मौजूद वैक्स को अक्सर हम मैल समझकर साफ करने लग जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कान का यह मैल आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। जी हां, कान में मौजूद वैक्स को अपशिष्ट मानना हमारी गलती हो सकती है। दरअसल, यह वैक्स कान में होने वाली कई परेशानियों से बचाने में हमारी मदद कर सकता है। यह मैल कान की नलिकाओं के ऊपरी जमी परत को सूखने से रोकना है। साथ ही यह कान में धूलकण और पानी जानें से रोकता है। आइए विस्तार से जानते हैं कान में मैल के क्या फायदे हैं?
क्यों जरूरी है कान में मैल? 
कान में मौजूद वैक्स या मैल भूरे, लाल, पीले या फिर नारंगी रंग का होता है। अक्सर यह वैक्स कान की नली में होता है। दरअसल, हमारे कान के अंदर कई तरह की ग्रंथियां होती हैं, जो मोम यानि वैक्स का निर्माण करती हैं। यह मैल आपके कान की स्किन को चोट से पहुंचाने से बचाता है। साथ ही इससे कई अन्य फायदे हो सकते हैं-
एंटी-माइक्रोबियल गुण
कान का मैल मुख्य रूप से मृत केराटिनोसाइट्स कोशिकाओं का बना होता है, जो देखने में मोम की तरह लगता है। इसलिए कई लोग इसे ईयर वैक्स भी कहते हैं। इसमें कई पदार्थों का मिश्रण होता है।  कान के मैल में लाइसोज़ाइम होता है, जो एक एंटी-बैक्टिरियल एंजाइम है। ऐसे में कान में मौजूद वैक्स या मैल कई तरह के बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाव करती हैं।
कान के स्किन की करे सुरक्षा
कान के आसपास की स्किन को सुरक्षा प्रदान करने में ईयर वैक्स काफी मददगार होता है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल और ऑयली गुण स्किन को सुरक्षा प्रदान करता है। 
नलियों की आउटर लेयर को सूखने से रोके
कान के मैल कान के नलियों की आउट लेयर को सूखने में मददगार होती हैं। दरअसल, यह मैल मोम और हल्का सा ऑयली होता है, जो कान की नलियों के लेयर को सूखने से रोकने में असरदार होती हैं। 
फंगस और पानी बचाव
कान में ईयर वैक्स होने से आपके कान के अंदरुनी हिस्सों में फंगल और पानी से होने वाली परेशानियों से बचाव किया जा सकता है। दरअसल, इसमें पानी को सुखाने का गुण होता है, कान के अंदर पानी जाने से रोकने में मददगार होता है। इसलिए बार-बार अपने कानों को साफ करने से बचें। 
बेहतर स्वास्थ्य की निशानी
कान का मैल आपके बेहतर स्वास्थ्य की निशानी हो सकती है। जी हां, अगर कान के मैल के रंग से आप अपने बेहतर स्वास्थ्य का पता लगा सकते हैं। अगर आपके कान का वैक्स या मैल पीले रंग का है, जो समझ जाएं कि आपका कान स्वस्थ है।  कान का मैल शरीर में विषाक्त पदार्थों का इकट्ठा होने का संकेत दे सकता है। ज्यादा वैक्स जमा होने पर यह खुद-ब-खुद निकल जाती है। 
--------------
 

Related Post

Leave A Comment

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).